Press "Enter" to skip to content

भारत के शास्त्रीय नृत्य Classical Dance of India

भारत के शास्त्रीय नृत्य

संगीत नाटक अकादमी के अनुसार भारत के शास्त्रीय नृत्य 8 है जबकि संस्कृति मंत्रालय ने छाऊ नृत्य को मिलाकर 9 शास्त्रीय नृत्य को मान्यता दी है|

  1. भरतनाट्यम नृत्य – यह तमिलनाडु का शास्त्रीय नृत्य है| मुख्य नृत्यकार – E. कृष्णा अय्यर, रुकमणी देवी, सोनल मानसिंह|
  2. कुचिपुड़ी नृत्य – यह आंध्र प्रदेश का शास्त्रीय नृत्य है| इसका विषय भागवत से लिया गया है| इसके पात्र भगवतथालू कहलाते हैं|  मुख्य नृत्यकार – बालासरस्वती, रागिनी देवी, राधा रेड्डी व राजा रेड्डी|
  3. कथकली नृत्य – यह केरल का शास्त्रीय नृत्य है| यह मुख्यतः पुरुषों का नृत्य है| इस नृत्य में चेहरे रंग से पुते हुए होते हैं| इसमें नौ प्रकार के चेहरे की भाव मुद्राएं होती है जिन्हें नवरस कहते हैं| मुख्य नृत्यकार –  गुरु कुंजू कुरूप, गोपी नाथ, रिता गांगुली|
  4. ऑडिसी नृत्य – यह उड़ीसा का शास्त्रीय नृत्य है| त्रिभंगा मुद्रा इसका महत्वपूर्ण भाग है| यह नृत्य पानी का प्रतीकात्मक है| मुख्य नृत्यकार – गुरु पंकज चरण दास, गुरु कैलू चरण मोहपात्रा, सोनल मानसिंह|
  5. मोहिनीअट्टम नृत्य – यह केरल का शास्त्रीय नृत्य है| इसमें भरतनाट्यम व कथकली दोनों के अंश पाए जाते हैं| यह विष्णु के नारीत्व स्वरूप की व्याख्या करता है| यह वायु का प्रतीकात्मक है| प्रमुख नृत्यकार – सुनंदा नायर, जयप्रभा मैनन| हेमा मालिनी ने इसे प्रसिद्ध बनाया|
    Advertisement
  6. मणिपुरी नृत्य – यह मणिपुर का शास्त्री नृत्य है| रासलीला इसका अभिन्न अंग मुख्य हैं| प्रमुख नृत्यकार – नैना, सुवर्णा, रंजना और दर्शना|
  7. कत्थक नृत्य – यह उत्तर प्रदेश का शास्त्रीय नृत्य है| इसके निम्न घराने हैं-                                                                                लखनऊ घराना – शंभू महाराज, बिरजू महाराज और लच्छू महाराज|                                                                      जयपुर घराना –  जय लाल, जानकी प्रसाद, कुंदन लाल|                                                                                      रायगढ़ घराना – राजा चक्रधर सिंह ने इसे विकसित किया|                                                                                  बनारस घराना – जानकी प्रसाद, सितारा देवी|
  8. क्षत्रिय नृत्य – यह असम का शास्त्री नृत्य है| यह भगवान विष्णु को समर्पित है|
  9. छाऊ नृत्य – यह बिहार, उड़ीसा और पश्चिम बंगाल का शास्त्रीय नृत्य है| इसमें मुखौटा लगाकर नृत्य किया जाता है|

 

Classical Dance of India

According to Sangeet Natak Akademi classical dance of India is 8 while the Ministry of Culture has recognized 9 classical dance including Chhau dance.

  1. Bharatanatyam Dance – This is the classical dance of Tamil Nadu. Chief Dancer – E. Krishna Iyer, Rukmani Devi, Sonal Mansingh.
  2. Kuchipudi Dance – This is the classical dance of Andhra Pradesh. Its theme is taken from Bhagwat. Its characters are called Bhagavathalu. Chief Dance Performers – Balasaraswati, Ragini Devi, Radha Reddy and Raja Reddy.
  3. Kathakali Dance – This is the classical dance of Kerala. It is mainly a men’s dance. In this dance, the faces are painted in color. There are nine types of facial expressions postures called Navaras. Chief Dancers – Guru Kunju Kroop, Gopi Nath, Rita Ganguly.
  4. Odissi Dance – This is the classical dance of Orissa. Tribhanga Mudra is an important part of it. This dance is symbolic of water. Chief Dancer – Guru Pankaj Charan Das, Guru Kailu Charan Mohapatra, Sonal Mansingh.
  5. Mohiniattam Dance – This is the classical dance of Kerala. It contains parts of both Bharatanatyam and Kathakali. This explains the femininity of Vishnu. It is symbolic of Vayu. Leading Dance – Sunanda Nair, Jayaprabha Manon. Hema Malini made it famous.
  6. Manipuri Dance – This is the classical dance of Manipur. Rasleela is an integral part of it. Prominent dance artists – Naina, Suvarna, Ranjana and Darshana.
  7. Kathak Dance – This is the classical dance of Uttar Pradesh. The following houses are –                                      Lucknow Gharana – Shambhu Maharaj, Birju Maharaj and Lachhu Maharaj.                                     Jaipur Gharana – Jai Lal, Janaki Prasad, Kundan Lal.                                                                           Raigad Gharana – It was developed by Raja Chakradhar Singh.                                                                     Banaras Gharana – Janaki Prasad, Sitara Devi.
  8. Sattriya Dance – This is the classical dance of Assam. It is dedicated to Lord Vishnu.
  9. Chhau Dance – This is the classical dance of Bihar, Orissa and West Bengal. It is performed by dancing with a mask.

Important Awards महत्वपूर्ण पुरस्कार(2019-2020): Click Here

EXERCISE युध अभ्यास 2019-2020: Click Here

Important Books(महत्वपूर्ण पुस्तकें) For ALL Exams: Click Here

First Person in India(भारत में प्रथम व्यक्ति) Male and Female: Click Here

भारत के प्रमुख मंदिर Important Temples of India: Click Here

Important Monuments of India भारत के प्रमुख स्मारकClick Here

भारत के लोक नृत्य Folk Dance of IndiaClick Here

Important Festival of India भारत का महत्वपूर्ण त्योहार: Click Here

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: